सुन सके मेरा दिल – Hindi Shayari 

Hindi Shayari

Hindi Shayari 
Hindi Shayari

सुन सके मेरा दिल तेरे दिल की सदा,

इतना नजदीक दिल के तो कुछ पल  रहो..

तुम भी बेचैन हो बस हमारे लिए,

रख के कंधें पे सर ये कभी तो कहो..

सुन सके मेरा दिल…

मेरे आँसू की हर बूँद रोने लगी,

तेरी तस्वीर को फिर भिगोने लगी..

नींद आँखों के आगोश से दूर है,

दिल भी तेरे नजारों को मजबूर है..

रोको नादानियां, मेरे दिल को सुकूँ दो.

हूँ पागल मिटा दो मेरे इस जुनूं को..

लेके  हाथों में चेहरा हमारा कभी,

संभालो मुझे,मुझको अपना कहो..

तुम भी बेचैन हो बस हमारे लिए,

रख के कंधे पे सर ये कभी तो कहो..

 

Hindi Shayari 
Hindi Shayari

छुपकर कभी मेरी नींदों में आते,

मेरी बेचैन रातों में सपने सजाते..

बाद अरसे के सोता मैं शब वो मेरी,

गम ना रहता जो होती वो शब् आखिरी..

मेरी तन्हाई कुछ पल की खातिर मिटाते,

कभी छुप के मेरे ख्यालों में आते ..

 

 

हमें भी याद कर लेना कभी किसी बहाने से,

अगर फुर्सत  मिले इस बेहतरीन ज़माने से..

हंसा देंगी कुछ बाते मेरी,कुछ आँखों में नमीं भी लाएँगी,

इक बार जो बस गए यादोँ में,तो भूलेंगे नहीं कभी भुलाने से..

 

तेरे साथ जुड़ी मेरी हर ख़ुशी होगी,

तेरे हर गम में शामिल मेरी ये हंसी होगी..

बेशक तू थाम ले दामन किसी गैर का,

तेरे हर फैसले में अपनी “हाँ “बसी होगी..

 

मैं अपना कल देखूँ तुझमें,

तू ढलती शाम मुझे माने..

तुझमे मय खाना है मेरा,

तू छलका जाम मुझे माने..

तू ग्रन्थ-शास्त्र लगती मुझको,

क्यूँ झूठा ज्ञान मुझे माने..

मैं वारूँ ये  जीवन तुझपे,

और तू नादान मुझे माने..

 

Hindi Shayari 
Hindi Shayari

जाने आज वो किसके हैं,कल तक तो मेरे थे..

उनकी ही पनाहों में, अपनी  शाम-ओ -सवेरे थे..

दिन अब भी होता है,रात अब भी होती है..

पर उन दिनों जैसी बात अब नही होती है..

अब तो बस एक ही अरमान है मेरा..

जी भर के देखूंगा उन्हें,जब निकलेगा जनाजा मेरा…

तब ना कोई रुकावट होगी,न ज़माने की बंदिशें होंगी..

ना किसी का डर होगा,न वो छुप जाने की कोशिशें होंगी..

हुआ कुछ और,ख़याल कुछ और मेरे थे..

जाने वो आज किसके हैं,कल तक तो मेरे थे…

ऐसी ही और सुन्दर  कविताओं और शायरी  के लिए नीचे click करें-

सभी कवितायेँ और शायरी 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *