Diwali Shayari – Diwali 2018

 

USERADDA   की ओर से आपको  diwali तथा धनतेरस की हार्दिक शुभ कामनायेँ

आज हम लाये हैं आपके लिए ABHI  की लिखी हुई ये कविता।

diwali

diwali

दीपावली का ये त्यौहार,लेकर आया खुशियां हजार।

दीप जलेंगे,ह्रदय मिलेंगे,मिलकर सब बांटेंगे प्यार।।

 

बिछड़े भूले मीत  मिलेंगे,लोग प्यार से गले लगेंगे।

होगा मिष्ठानो  का भण्डार।

दीपावली का ये त्यौहार,लेकर आया खुशियां हजार।

दीप जलेंगे,ह्रदय मिलेंगे,मिलकर सब बांटेंगे प्यार।।

                           diwali

कहीं  जलेंगी फुलझड़ियाँ ,और कही पटाखे फूटेंगे।

कहीं जलेंगे बड़े अनार  और  बच्चे  छत से देखेंगे।

दिवाली लेकर आएगी ,सबके मन में नयी बहार,

दीपावली का ये त्यौहार,लेकर आया खुशियां हजार।

दीप जलेंगे,ह्रदय मिलेंगे,मिलकर सब बांटेंगे प्यार।।

                            diwali

 लड्डू,बर्फी  और जलेबी, इन्ही दिनों में खूब बिकेंगी।

मौज करेंगे बच्चे सारे,मम्मी  भी कुछ नहीं कहेंगी।

चाहे जितना मस्ती करलो,फिर भी नहीं पड़ेगी मार।

दीपावली का ये त्यौहार,लेकर आया खुशियां हजार।

दीप जलेंगे,ह्रदय मिलेंगे,मिलकर सब बांटेंगे प्यार।।

                         diwali

पर हम इस बार ज़रा सी,आतिश बाजी कम करेंगे।

हवा प्रदूषित न होने पाए,इसका ज़रा ध्यान रखेंगे।

जिससे की हर बार दिवाली,लेकर  आये फिर से प्यार।

दीपावली का ये त्यौहार,लेकर आया खुशियां हजार।

दीप जलेंगे,ह्रदय मिलेंगे,मिलकर सब बांटेंगे प्यार।।

                             diwali                           (Abhishek)

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *